बिहार की राजधानी कहाँ है | Capital Of Bihar | Bihar Ki Rajdhani Kaha Hai 2022

प्रियः दोस्तों, क्या किसी ने आपसे पूछा है या आपका सामना कभी ऐसे प्रश्नो से हुआ है की बिहार की राजधानी क्या है ।

ऐसे ही कई प्रश्न कॉम्पिटिटिव एग्जाम में वि आते रहते है तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे की बिहार की राजधानी कहा है।

Table Of Contents

पटना के पुराने नाम

दोस्तों बिहार की राजधानी पटना है जिसे पुरातन कल में भिन्न भिन्न नामों से जाना जाता है मौर्या कल में मैगेस्थनीज़ (प्रसिद्द यूनानी इतिहासकार) ने इस शहर को पोलिबोथरा, फाहियान (चीन से आये हुए यात्री ) ने पलिनफू तो मुग़ल शासन के दौरान अजीमाबाद से नवाजा गया है। 

शेरशाह सूरी ने अपने शासन के दौरान शहर को पैठना (पैठनाबाद ) का नाम दिया था। इसके अतिरिक्त एहतिहासिक पटना शहर शतब्दियों से और भी कई नामों से जाना जा चूका है जैसे – पाटली ग्राम , पाटली पुत्र, कुसुमपुर, पुष्पपुर, कुसुमध्वज, पद्मावती, एवं पटना।

वर्तमान नाम पटना से प्रसिद्ध शहर का नामांकरण शेरशाह के मृत्योपरांत अंतिम हिन्दू सनातनी सम्राट हेम चंद्र विक्रमादित्य ने किया था।

पटना के विषय में

पटना बिहार का सबसे बड़ा शहर एवं बिहार की राजधानी होने के साथ साथ ऐतिहासिक नगर भी है। बिहार लोकमान्यताओं एवं कथाओ के अनुसार महारानी पाटिल के लिए बनाये गए इस शहर के जनक के रूप में राजा पत्रक को जाना जाता रहा है।

पुरातत्वविदों के अनुसन्धान द्वारा यह बताया जाता राजा है की पटना का लिखित इतिहास 490 ईशा पूर्व से भी पहले का रहा है।

शहरपटना
अन्य नामपाटली ग्राम , पाटली पुत्र, कुसुमपुर, पुष्पपुर, कुसुमध्वज, पद्मावती, एवं पटना
देशभारत
राज्यबिहार
संस्थापकउदयभद्र
संस्थापना490 ईशा पूर्व
क्छेत्राफल250 km sq
क्छेत्राफल दर्जा18 वां
उचाई53 m (174 फ़ीट )
जनसंख्या2.047 Million (2011 )
भाषाहिंदी, मगही , उर्दू
उपजमक्का, दाल, गेहू
विशेस्ताशैक्छ्निक , पर्यटन , पौराणिक धरोहर , ऐतिहासिक अस्थल, धर्म आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक केंद्र
ब्लॉक23
पिनकोड8000 XX
दूरभाष कोड+91 (0)612
वाहन पंजीकरणBR – ०१
वेबसाइटhttps://patna.nic.in/

पटना की विशेस्ता

बिहार राज्य की राजधानी एवं राज्य सब से बड़े शहर के रूप में पटना को क्छेत्राफल की दृस्टि से भारत का 8 वां बड़े शहरों में अपना नाम दर्ज करवाने का गौरव प्राप्त है।

250 वर्ग किलो मीटर अर्थात 97 मील में पहला ये शहर करीब 25 लाख जन्म समहू के अंतर्गत बौद्ध, हिन्दू , जैन , सिक्ख , मुस्लिम , एवं कई अन्य धर्मों को सौहार्द एवं सन्ति पूर्ण ज़िन्दगी देने के लिए अपने आप में एक मिसाल है।

जैन के वैशाली , राजगीर, नालंदा, पावापुरी, सिक्खों के 10 वे गुरु श्री गुरु गोविन्द सिंह जी का जन्म स्तन हिन्दू की पवन गंगा, पटन देवी मंदिर जैसे अन्य कई धर्म स्थलों के संगम से पटना शहर सुशोभित एवं ऐतिहासिक पहचान लिए हुए है।

इसके आलावा पटना ने हरीका, नंदा , मौर्या , श्रृंग , गुप्त एवं पाल राज्य वंसों में पटना ने अपने नाम सुनहरे अक्षरों से इतिहास के पन्नो पर दर्ज किये हुए है।

पटना का उल्लेख

  • चीनी यात्री फा हेंन के लेखों में
  • सिक्ख धर्म गरनथों में
  • युनंनी इतिहासकार मेगस्थनीज़ के लेखों में
  • रामायण में जनक के राज्य मगध के रूप में

पटना व्यंजन

  • सत्तू पराठा
  • सत्तू शरबत
  • लिट्टी चोखा
  • फिश करी
  • खिचड़ी
  • बिहारी कबाब
  • पोश्तदाना का हलवा
  • मालपुआ
  • दाल पिट्ठा
  • खीर मखाना
  • ठेकुआ
  • गुजिया

बिहारी स्ट्रीट फ़ूड

  • समोसा
  • चाट
  • टिक्की चाट
  • जलेबी
  • लिट्टी चोखा
  • इमली वाली गोलगप्पा
  • झालमुड़ी

बिहार के मुख्या त्यौहार

  • सरस्वती पूजा
  • दुर्गा पूजा
  • काली पूजा
  • मनसा पूजा
  • मकरसंक्रांति
  • बिश्वकर्मा पूजा
  • रक्षा बंधन
  • भाई धुज
  • रथ यात्रा
  • क्रिश्मस
  • ईद एवं
  • अति महत्वपूर्ण पर्व छठ

पटना में पर्यटन

bihar ki rajdhani
  • गोलघर
  • कुम्हरार
  • अगम कुआं
  • तख्त श्री पटना साहेब गुरुद्वारा
  • पहिला बाटा
  • बाल लीला
  • हांडी साहेब
  • प्रकाश पुंज
  • पादरी की हवेली
  • उच्च न्यायलय
  • सुल्तान पैलेस
  • सचिवालय भवन
  • गाँधी मैदान
  • पटना जंक्शन महावीर मंदिर
  • बुद्धा स्मृति पार्क
  • तारा मंडल
  • संजय गाँधी उद्यान
  • राज भवन
  • कला एवं ऐतिहासिक संग्रहालय। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *